शंख भस्म

शंख भस्म

विधि-

१ सेर शुध्द शंख के टुकडों को अग्नि में तपा तपाकर नींबु के रस में २१ बार बुझावें | जिससे टुकडे स्थान-स्थान पर फटे से हो जाते है इस टुकडों को 1हंडी में भर मुखमुद्रा कर गजपुट देने से मुलायम  सफेद भस्म बन जाती है |

मात्रा गुण और उपयोग –

रसतन्त्रसार व सिध्दप्रयोगसंग्रह प्रथम खण्ड के अनुसार है यह भस्म उदर शुल और अपचन जनित दस्तों पर तत्काल गुण दर्शाती है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Top